कालिंदी क्लब की महिलाओं ने जाने कैंसर के बचाव के उपाय

नयति मेडिसिटी में आयोजित कार्यशाला में नयति के कैसंर विभाग के डायरेक्टर डॉ. अमित भार्गव ने दिए टिप्स

मथुरा 13 सितंबर 2017 महिलाओं के अंदर बढ़ रही कैंसर जैसी बीमारी के क्या कारण हैं ? कैंसर के क्या लक्षण होते हैं ? इससे बचाव कैसे संभव है कुछ इसी तरह के सवालों का जवाब नयति मेडिसिटी में आयोजित कार्यशाला में कालिंदी क्लब की सदस्याओं ने जाने। कार्यशाला में नयति मेडिसिटी के कैंसर विभाग के डायरेक्टर डॉ. अमित भार्गव ने महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, और बच्चेदानी के कैंसर के लक्षण, बचाव के साथ उसके उपचार में प्रयोग की जाने वाली आधुनिकतम चिकित्सा पद्वति के बारे में भी बताया। डॉ. भार्गव ने कहा कि परिवार की महिला को जागरूक करने से पूरा परिवार जागरूक हो जाता है इसलिए यह जरूरी है कि महिलाएं कैसर के प्रति जागरूक हों और अपने आसपास की महिलाओं को भी जागरूक करें। उन्होंने बताया कि इस प्रयास में नयति “होप फॉर कैंसर” नाम से मुहिम चला रहा है जिसमें लोंगों को कैंसर के बारे में जागरूक किया जाता है।

डॉ. भार्गव ने बताया, “कैंसर अब लाइलाज बीमारी नही रह गई, अगर शुरूआती चरणमें इसका पता लग जाए तो इसका उपचार संभव है। इसके लिए जरूरी है कि कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाई जाए जिससे इस बीमारी का समय रहते पता लगाया जा सके। उन्होंने बताया कि व्यक्ति कैंसर के नाम से घबराकर इसकी जांच तक के लिए तैयार नही होता है  और इस  प्रथा को बदलने में महिलाओं की विशेष भूमिका रहे, यही नयति का प्रयास है”

कैंसर के कारणों के सवाल पर डाक्टर भार्गव ने बताया कि कैंसर होने के कई कारण हो सकते है जिसमें खानपान, शराब या धू्रमपान का सेवन, खराब जीवन शैली प्रमुख हैं। क्लब की अध्यक्ष ममता अरोरा ने कहा “कालिंदी क्लब अपना वार्षिक जेसीआई सप्ताह मना रहा है जिसके अंर्तगत हम हमारी क्लब कि सदस्याओं को कैसर जैसी घातक बीमारी के बारे में भी जागरूक कर रहे हैं और हम नयति मेडिसिटी का धन्यवाद देते हैं जिन्होंने कार्यशाला के माध्यम से हमारी सदस्याओं को कैंसर के बारे में जागरूक किया ”कार्यशाला में रजनी मालपानी, अनीता चौधरी, रूपाली गर्ग, मोना रस्तोगी, प्रिया महेश्वरी, अनीता अग्रवाल आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहीं।

Back