PRESS RELEASES

April 23, 2019

नयति हैल्थकेयर करेगा वैल वुमेन्स क्लब का शुभारंभ

  • 23 April, 2019

मथुरा 21 अप्रैल। महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक और सजग करने के लिए नयति हैल्थकेयर वैल वुमेन्स क्लब की शुरुआत करेगा।

नयति हैल्थकेयर की चेयरपर्सन नीरा राडिया ने कहा, “महिलाओं का समाज में विशेष योगदान रहता है। घर हो या बाहर.. महिलाएं हर जगह अपना कामपूरी जिम्मेदारी के साथ बखूबी निभाती हैं, किन्तु इन सारी जिम्मेदारियों को निभाते हुए वे खुद का ध्यान नहीं रख पातीं। महिलाओं में अपने स्वास्थ्य कोलेकर जागरूकता फैलाने के लिए हम वैल वूमेन क्लब का शुभारंभ करने जा रहे है। वैल वुमेन्स क्लब की सदस्य महिलाओं को नयति हैल्थकेयर द्वारासंचालित किसी भी अस्पताल में इलाज कराने पर ओपीडी, विभिन्न जांचों अथवा भर्ती होने पर विशेष छूट दी जाएगी, इसके अलावा समय समय पर क्लबकी सदस्यों के लिए स्वास्थ्य संबंधी कैम्प और जागरूकता के कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। हमारा उद्देश्य है कि समाज में महिलाएं अपने स्वास्थ्य केप्रति सजग रहें और बीमारी बढ़ने से पहले अपना ईलाज कराएं।”

मथुरा में महिलाएं इस क्लब का रजिस्ट्रेशन मंगलवार २३ अप्रैल सुबह ११ बजे से १ बजे तक करवा सकती हैं।

April 12, 2019

नयति में एमबीबीएस डॉक्टर प्राप्त कर सकेंगे डीएनबी की डिग्री

  • 12 April, 2019

मथुरा, 11 अप्रैल 2019। क्षेत्र का पहला विश्वस्तरीय मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल नयति मेडिसिटी में अब एमबीबीएस डॉक्टर डिप्लोमेट ऑफ नेशनल बोर्ड (डीएनबी) की डिग्री प्राप्त कर सकेंगे।

भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत नैशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन (एनबीई) द्वारा डीएनबी उपाधि उन उम्मीदवारों को दिया जाता है जो सफलतापूर्वक पोस्ट ग्रेजुएट या पोस्ट डॉक्टोरल मेडिकल पढ़ाई को पूरी करते हैं। अस्पतालों में विशेषज्ञ की कमी को दूर करने के लिए अब कुछ प्राइवेट अस्पतालों में डीएनबी पाठ्यक्रम शुरू करने के लिए मंजूरी दी गई है। गौरतलब है कि एनबीई के डीएनबी पाठ्यक्रम को एमडी और एमएस के बराबर ही मान्यता है। एमडी-एमएस की तरह एमबीबीएस करने के बाद यह कोर्स विशेषज्ञता के लिए किया जाता है।

अभी नयति में इंटरनल मेडिसिन, एनेस्थिसियोलॉजी तथा इमयोनोहेमाटॉलजी और ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन के क्षेत्र में डीएनबी कराया जाएगा, और आने वाले समय में जनरल सर्जरी, क्रिटिकल केयर, प्रसूति एवं स्त्रीरोग, मेडीकल ऑन्कोलॉजी, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी, ऑर्थोपेडिक्स, कार्डियोलॉजी तथा नेफ्रोलॉजी में भी डीएनबी कराया जाने लगेगा। इसके अलावा नयति द्वारा मिनिमल एक्सेस सर्जरी और इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी के लिए फेलोशिप नेशनल बोर्ड के लिए भी आवेदन कर दिया है।

इस अवसर पर नयति हेल्थकेयर की चेयरपर्सन नीरा राडिया ने कहा कि देश में पहले ही डॉक्टरों की काफी कमी है और विशेषज्ञ डॉक्टर तो केवल महानगरों में ही हैं। टियर 2 और टियर 3 शहरों के लोगों को तो विशेषज्ञ डॉक्टरों की सुविधाएं प्राप्त करने के लिए जूझना ही पड़ता है। नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन द्वारा डीएनबी की मान्यता मिलना स्वास्थ्य सेवा के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को मजबूत करता है। चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में यह मान्यता मिलना हमारे लिये गौरव की बात है। इस मान्यता को प्राप्त करने के लिए किसी भी संस्थान को कड़े मापदंडों से गुजरना पड़ता है। हमें अपने चिकित्सकों, हमारे सलाहकारों तथा विश्वस्तरीय सुविधाओं पर गर्व है, जिनकी वजह से हम यह मान्यता प्राप्त कर सके। हमारे पास पहले से ही क्रिटिकल केयर मेडिसिन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा की 4 सीटों और क्रिटिकल केयर नर्सिंग में स्नातकोत्तर डिप्लोमा के लिए 4 सीटों के लिए आईएससीसीएम की मान्यता है। हम न केवल टियर 2 और 3 शहरों में क्वार्टरनेटरी केयर इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहे हैं, बल्कि अगली पीढ़ी के विशेषज्ञ चिकित्सक को भी सक्षम और विकसित कर रहे हैं।

April 2, 2019

विख्यात क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ डॉ यश जावेरी बने नयति का हिस्सा

  • 02 April, 2019

मथुरा 30 मार्च। देश के कई महानगरों के बड़े अस्पतालों में अपनी विशेषज्ञता के लिए सुप्रसिद्ध डॉ यश जावेरी अब नयति मेडिसिटी, मथुरा और आगरा से जुड़ गए हैं। क्रिटिकल केयर के क्षेत्र में डॉ जावेरी को किसी परिचय की आवश्यकता नहीं हैं, उनके द्वारा किये गये कई शोध एवं खोज अंतरराष्ट्रीय मंचों पर प्रकाशित हो चुके हैं, जिनका लाभ आज देश दुनिया के चिकित्सकों द्वारा उठाया जा रहा है। नयति मेडिसिटी में डॉ यश जावेरी विभाग प्रमुख, सर्जिकल क्रिटिकल केयर, के रूप में अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे।

डॉ जावेरी को इस क्षेत्र में 15 वर्ष से अधिक का अनुभव है। 2015 से 2017 तक एपेक्स हेल्थकेयर के डायरेक्टर तथा प्रमुख रह चुके हैं। 2009 से 2015 तक इन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिटिकल केयर मेडिसिन- मैक्स सुपर स्पेशियलिटी, साकेत, दिल्ली, में वरिष्ठ सलाहकार के रूप में अपनी सेवाएं दी हैं। इसके अलावा इन्होंने फोर्टिस हॉस्पिटल,वसंत कुंज दिल्ली, में क्लीनिकल एसोसिएट के पद पर स्वास्थ सेवाएं प्रदान कर चुके हैं। क्रिटिकल केयर के क्षेत्र में विशेष शोध कार्य के लिए इन्हें सम्मानित भी किया गया है। अपने करियर में डॉ जावेरी ने कुशल और प्रशिक्षित इंटेंसिविस्ट के साथ क्रिटिकल केयर और आपातकालीन सेवाओं का विकास किया है।

नयति हेल्थकेयर की चेयरपर्सन नीरा राडिया ने कहा कि हमारा हमेशा से प्रयास रहा है कि देश और दुनिया की बेहतरीन चिकित्सा सुविधाएं एवम् चिकित्सक हमारे साथ जुड़ सकें, जिससे हम ब्रजवासियों एवं आसपास के क्षेत्रों के मरीजों को विश्वस्तरीय एंड टू एंड चिकित्सा सुविधा प्रदान कर सकें। उसी के चलते हमारे क्रिटिकल केयर विभाग को और मजबूत करने के लिए हमने डॉ यश जावेरी से नयति परिवार के साथ जुड़ने का आग्रह किया जो उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया।

पिछले 3 साल में हमने देखा है कि मरीज़ हमारे पास गंभीर अतिथि में आते हैं इसलिए बहुत आवश्यक है कि हमारा क्रिटिकल केयर विभाग बेहतरीन तकनीक और एक्सपर्ट इंटेंसिविस्ट्स की टीम 24 7 उपलब्ध हों नयति मेडीसिटी में टोटल 401 बेड में से 122 बेड क्रिटिकल केयर के मरीजों के लिए आरक्षित हैं जिसमें पीडियाट्रिक आइसीयू , सर्जिकल आइसीयू, मेडिकल आइसीयू, तथा कार्डिएक आइसीयू नीओनेटल आईसीयू प्रमुख रूप से हैं । यहां डॉ विपुल मिश्रा वभाग प्रमुख क्रिटिकल केयर और डॉ यश जवेरी (विभाग प्रमुख सर्जिकल क्रिटिकल केयर) जैसे अनुभवी चिकित्सक अपनी 115 इंटेंसिविस्ट्स, ट्रेंड नर्सेस और पैरामेडिकल टीम के साथ 24’7 उपलब्ध हैं ।

डॉ यश जावेरी (विभाग प्रमुख, सर्जिकल क्रिटिकल केयर, नयति मेडिसिटी) ने कहा,“ क्रिटिकल केयर सेवाएं आपातकालीन स्थिति में मरीजों के असामान्य स्वास्थ्य का सामना करने में मदद करती है – विशेष रूप से, जिसमें महत्वपूर्ण अंग का विफल होने का खतरा है। उन्नत चिकित्सीय, जांच और क्लीनिकल विशेषज्ञता का उपयोग करते हुए, क्रिटिकल केयर का उद्देश्य अंग प्रणाली के कामकाज को बनाए रखना है और रोगी की स्थिति में सुधार करना है ताकि उसकी चोट या बीमारी का इलाज तत्काल किया जा सके। नयति मेडिसिटी में आज हर सुविधा मौजूद है जो महानगरों के अस्पतालों में उपलब्ध है। नयति एक ऐसी पहल है जो टीयर 2 टीयर 3 शहरों में विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवा दे रहा है और मैं एक ऐसे प्रगतिशील ग्रुप के साथ जुड़कर बहुत प्रसन्न हूं ।