PRESS RELEASES

December 24, 2019

नयति में अफगानिस्तान निवासी मरीज की ख़राब किडनी सफलतापूर्वक निकाली, नयति पर सरहद पार के मरीजों का भी बढ़ रहा विश्वास

  • 24 December, 2019

मथुरा 24 दिसम्बर। अफगानिस्तान के काबुल निवासी नबी जदा शाह बली की ख़राब किडनी को नयति मेडिसिटी में दूरबीन विधि द्वारा सफलतापूर्वक निकाल दिया गया, वे कई महीनों से किडनी से सम्बंधित कई परेशानियों से जूझ रहे थे।

ज्ञात हो कि नयति में अफगानिस्तान के अलावा कई अन्य देशों के मरीज आकर निरंतर अपना इलाज करा रहे हैं, और अब विदेशों में भी नयति स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बना चुका है।

नयति मेडिसिटी के यूरो सर्जरी विभाग के वरिष्ठ यूरो सर्जन डॉ हर्ष गुप्ता ने बताया कि नबी काफी समय से पेशाब न आने की समस्या से पीड़ित थे। उन्हें अक्सर उल्टियों की शिकायत रहती थी, और कमर के पीछे भी दर्द रहता था। हमारे पास आने के बाद उनकी जांचें करने पर पता चला कि, उनकी बांयी किडनी सामान्य से अधिक बढ़ी हुई है, और  उसमें काफी मात्रा में पानी की गांठें ( मल्टीपल रीनल सिस्ट) के अलावा 2 सेमी की पथरी भी है।
उनकी किडनी पूरी तरह से ख़राब थी, जिसे निकालने की जरुरत थी।
हमने परिवार की सहमति के बाद दूरबीन विधि (लेफ्ट किडनी लैप्रोस्कोपिक नैफ्रेक्टमी) के माध्यम से उनकी किडनी निकाल दी।

नयति में अपना ऑपरेशन कराने के बाद नबी जदा शाह बली ने बताया कि अपने इलाज के लिए हम दिल्ली के कई बड़े अस्पतालों में दिखा चुके थे, जहां का इलाज काफी महंगा था, कुछ भी समझ नहीं आ रहा था। तब दिल्ली में ही किसी के बताने के बाद हम नयति मेडिसिटी आये, जहां सारी सुविधाएं दिल्ली के बड़े अस्पतालों जैसी हैं, और इलाज पर होने वाला खर्च भी दिल्ली से काफी कम। हमने तुरंत नयति में अपना इलाज कराने का फैसला किया, अब मैं बिल्कुल ठीक हूं।
ऑपरेशन करने वाली टीम में डॉ तनय सिंह का विशेष योगदान रहा।

December 17, 2019

नयति में जापान के जानेमाने कार्डियोलॉजिस्ट डॉ मासाकाजु  ने एंजियोप्लास्टी की आधुनिक तकनीक के बारे में विस्तार से चर्चा की

  • 17 December, 2019

मथुरा 16 दिसंबर। नयति मेडिसिटी में क्रोनिकल टोटल ऑक्यूजन (धमनियों की पुरानी रूकावट) के विषय पर विस्तार से चर्चा करने के लिए एक सेमिनार का आयोजन किया गया।
स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश और दुनिया में आये दिन नयी शोध एवं खोज की जा रही हैं। क्रोनिकल टोटल ऑक्यूजन (धमनियों की पुरानी रूकावट) अथवा एंजियोप्लास्टी के क्षेत्र में भी अब काफी विकसित तकनीक उपयोग में लायी जाने लगी है।  इसी बारे में विस्तार से चर्चा करने के लिये जापान के जानेमाने कार्डोयोलॉजिस्ट डॉ मासाकाजू नागाओका नयति मेडिसिटी पहुंचे, जहां उन्होंने हृदय रोगों तथा उनके उपचार के बारे में क्षेत्र भर से आये हुए डॉक्टरों के साथ विस्तार से चर्चा की। इस अवसर पर नयति के कार्डियोलोजी विभाग के डायरेक्टर डॉ जगदानंद झा और डॉ रोहित तिवारी ने क्रोनिकल टोटल ऑक्यूजन (धमनियों की पुरानी रूकावट) के 4 मरीजों का  ऑपरेशन भी किया।

डॉ मासाकाजू ने कहा कि मुझे जानकर काफी खुशी हुई कि नयति में आज दुनिया की बेहतरीन डॉक्टरों की टीम विश्वस्तरीय तकनीक का उपयोग करते हुए मरीजों का इलाज कर रही है। हृदय की बंद धमनियों को खोलने के लिये जो विधि अपनायी जाती है, उसे मेडिकल भाषा में एंजियोप्लास्टी कहते हैं। पहले बंद धमनियों को खोलने के लिए जो तार उपयोग में लाया जाता था, उससे कभी कभी कोई धमनी नहीं खुल पाती थी, लेकिन अब जापान में बने हुए नई तरह के तार द्वारा हर तरह की धमनी खुल जाती है।

नयति मेडिसिटी के कार्डियोलोजी विभाग के डायरेक्टर डॉ जगदानंद झा एवं डॉ रोहित तिवारी ने डॉ मासाकाजू का स्वागत करते हुए कहा कि संचार माध्यम की सुगमता की वजह से आज दुनिया में सभी डॉक्टर किसी भी नयी तकनीक का आपस में आदान प्रदान करते ही रहते हैं, जिससे मरीजों के इलाज में और भी ज्यादा सरलता हो जाती है। आज नयति में आयोजित इस सेमिनार में क्षेत्र भर से आये हुए डॉक्टरों को भी काफी लाभ मिला होगा, ऐसा हमें पूरा विश्वास है।
हम समय समय पर इस प्रकार के सेमिनार आदि का आयोजन करते रहते हैं। दुनिया में आने वाली किसी भी आधुनिक तकनीक को हम नयति तक लाने का प्रयास करते रहेंगे, जिससे यहां आने वाले मरीजों को इसका लाभ मिल सके।

December 16, 2019

नयति मेडिसिटी को मिला पेशेंट ट्रस्टेड ब्राण्ड ऑफ द ईयर एवॉर्ड

  • 16 December, 2019

मथुरा 14 दिसंबर। स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करते हुए देश के टियर 2 और टियर 3 शहरों के मरीजों तक विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने तथा मरीजों का विश्वास जीतने के लिए नयति मेडिसिटी को देश की जानी पहचानी संस्था ई – हैल्थ द्वारा पेशेंट ट्रस्टेड ब्राण्ड ऑफ द ईयर एवार्ड प्रदान किया गया।

ई-हैल्थ द्वारा देशभर के अस्पतालों को विभिन्न क्षेत्रों में किये गए योगदान के लिए हर वर्ष पुरुस्कृत किया जाता है। इसी क्रम में मरीजों का भरोसा जीतने के लिए नयति मेडिसिटी को पेशेंट ट्रस्टेड ब्राण्ड ऑफ द ईयर एवार्ड प्रदान किया गया। दिल्ली में आयोजित एनुअल हैल्थकेयर इनोवेशन सम्मिट में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चैबे की उपस्थिति में नयति मेडिसिटी को यह एवार्ड प्रदान किया गया।

नयति की ओर से मैनेजिंग डायरेक्टर, एस के नरूला और चेयरमैन, जीआई, बैरियाट्रिक एन्ड मॉस सर्जरी एवं हॉस्पिटल मैनेजमेंट ग्रुप, डॉ योगेश अग्रवाला ने यह एवार्ड प्राप्त किया।
इस अवसर पर नयति हैल्थकेयर की चेयरपर्सन नीरा राडिया ने कहा कि पेशेंट ट्रस्टेड ब्राण्ड ऑफ द ईयर एवार्ड ब्रज के लोगों के प्रेम और भरोसे का प्रतीक है । इस भरोसे एवं प्यार के लिए मैं और मेरी टीम ब्रजवासियोंयों का धन्यवाद करते है। नयति का ध्येय हमेशा से सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य सेवाएं आमजन तक पहुंचाने में है, और इस पर हम तत्पर रहेंगे। दुनिया में आनेवाली हर एक बेहतरीन चिकित्सा सुविधा व तकनीक को अपने ब्रज में लाएंगे।
नयति मेडिसिटी की शुरुआत फरवरी 2016 में की गयी। इन चार वर्षों में ना केवल स्थानीय बल्कि दूरदराज के प्रदेशों से भी मरीज अपना इलाज करवाने नयति आ रहे हैं ।
पेशेंट ट्रस्टेड ब्राण्ड ऑफ द ईयर एवार्ड के लिए हम आयोजकों का तहेदिल से शुक्रिया अदा करते हैं, जिन्होंने पूरी पारदर्शिता के साथ हमारा चुनाव किया। यह एवार्ड हमारे यहां के डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ, पैरामेडिकल तथा अन्य सपोर्ट स्टाफ की मेहनत और लगन का नतीजा है। यह हमें अपनी सेवाएँ और बेहतर करने के लिए प्रेरित करता है।