सावधान! गैस गीज़र ले सकता है आपकी जान

  • Dec 28, 2018
  • Nayati_main
सर्दी का मौसम है और इस मौसम में सबसे ज्यादा कष्ट दायक काम है ठंडे पानी से स्नान करना। पानी गर्म करने के लिए हम विभिन्न तरीके अपनाते हैं जिसमें एक है गैस गीज़र का इस्तेमाल करके पानी गर्म करना। गैस गीज़र एक ऐसी व्यवस्था है जिसमें हम एलपीजी गैस को जलाकर पानी को गर्म करते हैं और गैस के चलने से विभिन्न प्रकार की जहरीली गैसे जैसे कार्बन मोनो ऑक्साइड, प्रोपेन, ब्यूटेन व अन्य हाइड्रोकार्बन उत्सर्जित होते हैं, जो कि गैस गीज़र सिंड्रोम के कारण बनते हैं। जब आप गैस गीज़र चलाकर स्नान करते हैं तो बाथरूम में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है और समय के साथ जहरीली गैस सांस के द्वारा आपके शरीर में प्रवेश कर जाती है। शुरुआत में सिर का भारी होना, चक्कर आना, उल्टी होना, इसके प्रमुख कारण हैं और अधिक समय तक जहरीली गैस के संपर्क में रहने पर मिर्गी आ सकती है, मूर्छित हो सकते हैं, मनुष्य कौमा में जा सकता है और उसकी जान भी जा सकती है। गैस गीज़र सिंड्रोम की समस्या की उन घरों में ज्यादा संभावना होती है जिनमें बाथरूम छोटे हो, वेंटिलेशन की उचित व्यवस्था ना हो। गैस गीज़र सिंड्रोम से बचने के लिए गैस गीज़र का इस्तेमाल ना करें, और अगर करें तो बाथरूम का इस्तेमाल करने से पहले पानी गर्म कर ले। बाथरूम का वेंटिलेशन अच्छा रखें। किसी भी प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर तुरंत दरवाजा खोलकर, खुली हवा में गहरी गहरी सांस लें । लगातार बेहोशी की स्थिति में, बार बार उल्टियां होने पर, मिर्गी आने पर अविलंब चिकित्सक का परामर्श लें। ये छोटी सी जानकारी आपके और आपके अपनों को एक खतरनाक बीमारी से बचा सकती है जो जानकारी के अभाव में किसी की जान भी ले सकती है।