कई वर्षों से पेशाब की समस्या से ग्रस्त महिला का नयति में ऑपरेशन द्वारा हुआ सफल इलाज

मथुरा नयति मेडिसिटी में रुक रुक कर आ रही पेशाब की समस्या से ग्रस्त हाथरस निवासी 49 वर्षीय महिला का एलएमजी यूरेथ्रोप्लास्टी विधि से सर्जरी कर सफल इलाज किया गया।

नयति मेडिसिटी के सीईओ डॉ. आरके मनी ने कहा कि नयति में स्थित डॉक्टरों की टीम हर प्रकार की गंभीर बीमारियों के इलाज एवं सर्जरी के लिए सक्षम है, यह सर्जरी भी हमारी टीम द्वारा किया गया एक उदाहरण है।

नयति मेडिसिटी के यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख डॉ. सुमित शर्मा ने बताया कि मुन्नीदेवी जब हमारे पास आयीं तो पिछले कई वर्षों से पूरी तरह पेशाब न होने की परेशानी से जूझ रहीं थीं, उन्हें पेशाब करते समय बहुत जोर लगाना पड़ता था और बूंद बूंद करके उनकी पेशाब आती थी। यहां आने से पहले आगरा और जयपुर के कई अस्पतालों में भी खुद को दिखाने के अलावा एक ऑपरेशन तक करा चुकी थीं, लेकिन उन्हें कोई लाभ नहीं हुआ। यहां आने के बाद हमारे द्वारा युरोफ्लोमेट्री टेस्ट एवं अन्य जांचों  द्वारा पता चला कि उनकी पेशाब की नली सिकुड़ने के साथ संकरी (एमसीयू) भी हो गयी है, जिसको ऑपरेशन के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। परिवार की सहमति के बाद हमने अपनी टीम के साथ मिलकर उनका एलएमजी यूरेथ्रोप्लास्टी विधि से सफल ऑपरेशन कर दिया, जिसमें हमने उनकी जीभ की त्वचा से उनकी पेशाब की नली को रीकंस्ट्रक्ट कर दिया।अब वे बिल्कुल स्वस्थ हैं।

नयति में अपना ऑपरेशन कराने वाली मुन्नी देवी ने बताया कि इस बीमारी के कारण मेरी जिंदगी बिल्कुल अस्त व्यस्त हो गयी थी। किसी काम में मन नहीं लगता था और ना ही किसी रिश्तेदार आदि के यहां जाने को दिल करता था। हर समय कपड़े खराब होने का डर बना रहता था, लेकिन नयति में ऑपरेशन कराने के बाद मुझे अब किसी तरह की कोई समस्या नहीं है अब मैं बहुत ज्यादा खुश हूं।

ऑपरेशन करने वाली टीम में डॉ. हर्ष गुप्ता एवं डॉ विकास कुमार पवार का प्रमुख योगदान रहा।

Back