दुर्घटना में बुरी तरह घायल महिला के सिर की सीवियर इंजरी और लकवाग्रस्त चेहरे का नयति में हुआ सफल इलाज

मथुरा 30 जुलाई। दुर्घटना में बुरी तरह घायल होने से सिर में गंभीर चोट के साथ नयति में पहुंची महिला का न्यूरो सर्जरी विभाग और ईएनटी विभाग के डॉक्टरों द्वारा सफल ऑपरेशन कर नया जीवन दिया।

राया निवासी विमला देवी का मोटरसाइकिल से जाते वक्त एक्सीडेंट हो गया, जिसके बाद वे मौके पर ही बेहोश हो गयीं। उनके सिर तथा चेहरे पर काफी चोट थी। उनके परिजन उन्हें नयति अस्पताल लेकर आये, जहां न्यूरो सर्जरी विभाग और ईएनटी विभाग द्वारा उनके सिर की सर्जरी और मुंह के टेढ़ेपन का इलाज कर दिया गया।

नयति मेडिसिटी के न्यूरो सर्जरी विभाग के वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ रविन्द्र श्रीवास्तव और डॉ विमल कुमार ने बताया कि दुर्घटना के बाद विमला देवी काफी गंभीर स्थिति में हमारे पास लायी गयी थीं। जांच करने पर पता चला कि उनके सिर के पिछले भाग में फ्रेक्चर है और दिमाग में काफी क्लॉट जमा हो गए थे, जिसका ऑपरेशन करने की तुरंत आवश्यकता थी। हमने उनके सिर का ऑपरेशन सफलतापूर्वक कर दिया। उनके दिमाग से जाने वाली सातवीं नस फेशियल नर्व हड्डी में फंस गई है, जिसके कारण उनके मुंह पर टेढ़ापन आ गया था, जिसके लिए हमने उन्हें नयति के ही ईएनटी विभाग भेज दिया।

नयति मेडिसिटी के ईएनटी विभाग प्रमुख डॉ मनीष जैन ने बताया कि हमने जब विमला देवी की जब जांच की तो पता चला कि दुर्घटना के कारण इनकी फेशियल नर्व (चेहरे की नस) पर काफी दवाब पड़ रहा है और उस नस में उनकी टूटी हुई हड्डियों के टुकड़े फंस गए हैं, जिसके कारण उस नस का कार्य ना के बराबर हो रहा था।

परिजनों की सहमति के बाद हमने उनकी नस पर पड़ रहे दवाब को हटाकर नस में धंसे हुए हड्डियों के टुकड़ों को हटा दिया। अब विमला देवी की स्थिति में काफी सुधार है और धीरे धीरे ये बिल्कुल ठीक हो रही हैं।

विमला देवी के पति ने बताया कि नयति में एक ही छत के नीचे सभी सुविधाएं होने से मेरी पत्नी का समय पर और सही इलाज हो सका। नयति में स्थित न्यूरो सर्जरी विभाग, ईएनटी विभाग के डॉक्टरों और उनकी टीम द्वारा किये गए ऑपरेशन के बाद इनके सिर की चोट सही हो गयी, आंख भी बंद होने लगी है और मुंह का टेढ़ापन भी काफी हद तक कम हो गया है। डॉक्टरों के अनुसार समय के साथ और भी सुधार आ जायेगा, और ये ठीक हो जाएंगी।

Back