नयति अस्पताल ने छात्राओं को किया जागरुक

वृन्दावन 24 अगस्त, 2016:– आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में अभिभावक अपने बच्चों की ओर ध्यान नहीं दे पाते जिससे बच्चे अपने अन्दर हो रहे शारीरिक बदलाव तथा मानसिक परेशानियों को साझा नहीं कर पाते और उनसे खुद ही जूझते रहते हैं। अभिभावकों की जरा सी जागरुकता बालिकाओं में हो रहे शारीरिक एवं मानसिक बदलाव से होने वाली परेशानी को दूर कर सकती है। ये कहना था नयति अस्पताल की वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डाॅ. वरना वेणुगोपाल राव का, जो हनुमान प्रसाद धानुका बालिका विद्या मन्दिर, वृन्दावन में नयति अस्पताल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में छात्राओं को सम्बोधित करते हुए बोल रही थीं।

 
उन्होंने बालिकाओं में किशोरावस्था के दौरान होने वाले मानसिक एवं शारीरिक बदलावों को ध्यान में रखते हुए बालिकाओं के भ्रम का निवारण करते हुए कहा कि अभिभावकों को बालिकाओं की बढ़ती अवस्था में अपने बच्चों के खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिये। पहले संयुक्त परिवारों में दादी, नानी जो खाना हमें खिलाती थी वह सर्वोत्तम एवं पौष्टिक होता था, उसमें हमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट एवं विटामिन की भरपूर मात्रा मिल जाती थी। जहाँ तक सम्भव हो सके हमें बाजार का डिब्बा बन्द खाना तथा फास्टफूड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए तथा माँ को बच्ची के साथ मित्रवत व्यवहार करना चाहिए, जिससे कि बच्ची अपनी कोई भी समस्या माँ के साथ साझा कर सके। इस सत्र के बाद उन्होंने कई छात्राओं से अलग-अलग बात करके उनकी समस्याएं जानीं एवं उनके समाधान बताये।

 
अध्यापिकाओं को सम्बोधित करते हुए नयति अस्पताल की वरिष्ठ मनोचिकित्सक डाॅ. स्वप्ना ने कहा कि बालिकाएं अपना अधिकांश समय स्कूल में अध्यापिकाओं के साथ बिताती हैं। जिसके कारण बालिकाएं अपनी समस्याएं अध्यापिकाओं के साथ साझा करने में सहज महसूस कर सकती हैं। बच्चियों के व्यवहार तथा तौर-तरीके में हो रहे परिवर्तन के बारे मंे जितना अध्यापिका जान सकती हैं उतना कोई नहीं जान सकता। अतः अध्यापिकाएं अगर थोड़ा सा प्रयास करें तो बालिकाओं में हो रहे बदलाव के बारे में जानकर उनका समाधान कर सकती हैं जिससे बच्चों को ध्यान पढ़ाई के साथ अन्य क्रियाकलापों में भी लग सकता है।

 
इस अवसर पर विद्यालय की प्रधानाचार्या डाॅ. अन्जू सूद ने कहा कि नयति अस्पताल से आये हुए चिकित्सकों से विद्यालय के बच्चों तथा शिक्षिकाओं को काफी जानकारी मिल सकी तथा बालिकाओं के मन में चल रहे कई प्रकार के भ्रम दूर हो सके। कार्यक्रम में मुख्य रूप से 1200 छात्राओं के अलावा 42 शिक्षिकाएँ आदि भी उपस्थित थे।

 
नयति हेल्थकेयर एंड रिसर्च प्राइवेट लिमिटेड के बारे में – मरीज़ों तक उपचार की पेषकष
नयति भारत का ऐसा पहला मल्टी सुपर-स्पेष्यलिटी हैल्थकेयर ग्रुप है जो देष के टियर 2 और टियर 3 षहरों के लिए प्रीमियम टर्षियरी केयर सुविधाओं की पेषकष कर रहा है। इसका मकसद इन षहरों में और आसपास के षहरों में भी उपचार की वल्र्ड क्लास सुविधाएं पहुंचाना है। कंपनी अपने मरीज़ों के लिए अत्याधुनिक मेडिकल टैक्नोलाॅजी और उन्नत उपचार सुविधाओं की मदद से षानदार सेवाओं की पेषकष करती है ताकि मरीज़ों को किफायती खर्च में षीघ्र स्वास्थ्य लाभ मिल सके।

 

नयति मल्टी सुपर स्पेषिएलिटी हाॅस्पिटल, मथुरा के बारे में
नयति मल्टी सुपर स्पेषिएलिटी हाॅस्पिटल, मथुरा इस क्षेत्र का पहला अस्पताल होगा, जहां सेंटर आॅफ एक्सीलैंस के ज़रिये एकीकृत, व्यापक और बेहतरीन गुणवत्ता की स्वास्थ्य देखभाल उपलब्ध कराई जाती है। इन सेंटरों को एडवांस्ड इंटेंसिव केयर यूनिटों का भी सपोर्ट होगा, जिनमें: एमआईसीयू, सीसीयू, एसआईसीयू, एनआईसीयू और पीआईसीयू भी षामिल हैं। यह अस्पताल वृंदावन, आगरा, पलवल, फिरोज़ाबाद, मैनपुरी, कासगंज, इटावा, एटा, हाथरस और आसपास के अन्य क्षेत्रों के लोगों को अपनी सेवाएं दे रहा है।

Back