नयति मना रहा है वर्ल्ड हार्ट सप्ताह, लगे ठहाके

मथुरा । नयति मेडिसिटी में वर्ल्ड हार्ट सप्ताह के अवसर पर हास्य योग कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें नयति के डॉक्टरों के अलावा विभिन्न क्षेत्रों से आये हुए लोगों ने भाग लिया। हास्य योग कार्यक्रम में लोगों ने जमकर ठहाके लगाए।

इस अवसर पर नयति हैल्थकेयर की चेयरपर्सन नीरा राडिया ने कहा कि योग हमारे देश की प्राचीन विद्याओं में से एक है जिसे लोगों के स्वस्थ तन और मन के लिए हमारे ऋषियों ने लोगों तक पहुंचाया। अब तो सारी दुनिया योग की दीवानी हो गयी है। हास्य योग भी योग का ही एक भाग है जिसके द्वारा हम कई बीमारियों आदि से बच सकते हैं।

उन्होंने कहा कि नयति में शुरू से ही योग एवं वैलनेस विभाग है जो योगाचार्य आशुतोष के निर्देशन में चल रहा है, जहां मरीजों और उनके साथ आये तीमारदारों को नियमित योग कराया जाता है।

इस कार्यक्रम के लिए विशेष रूप से आमंत्रित दिल्ली एकेडमी ऑफ लाफ्टर योगा की फाउंडर डॉ संतोष साही ने कहा कि इंसान को दिन में कम से कम 15 मिनट ठहाके लगाने चाहिए। वैसे तो मुस्कुराने से भी कई लाभ होते हैं लेकिन ठहाके हमारे दिल के लिए किसी वरदान से कम नहीं होते। ठहाकों से हमारे शरीर में पाए जाने वाला एंडोसिंच नामक हार्मोन्स में बदलाव आता है, जिससे तनाव में काफी कमी आती है। हंसना शुरू करते ही मूड बदल जाता है, हास्य योग द्वारा इम्युनिटी सिस्टम को बूस्ट मिलता है, इसके अलावा डिप्रेशन, एंजाइटी, ब्रेन स्ट्रोक, ब्लड प्रेशर, डाइबिटीज आदि से बचाव के लिए भी ठहाके काफी कारगर साबित होते हैं।अनियमित दिनचर्या एवं खानपान एवं तनाव के चलते हृदय की नलियां सिकुड़ जाती हैं और उनमें खून के थक्के भी पड़ जाते हैं। ठहाके लगाने से ह््रदय की नालियां खुल जाती हैं और धीरे धीरे उनमें जमे क्लॉट भी निकल जाते हैं, इसलिए इंसान को खुलकर ठहाके लगाने चाहिए।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से राजेश चतुर्वेदी, डॉ आदर्श कोपुला, डॉ रोहित तिवारी, डॉ जगदानंद झा, डॉ प्रवीर सिन्हा, डॉ विपिन, डॉ के एम साहू, डॉ कपिल शर्मा, डॉ मनीष जैन, डॉ अमित भार्गव, डॉ अपूर्व नारायण आदि उपस्थित थे।

Back