नयति में यूरो डाईनिमिक्स मशीन द्वारा जांच शुरू

मथुरा 7 फरवरी। पेशाब की थैली की नसों की कमजोरी की सटीक जानकारी देने वाली यूरो डाइनिमिक्स मशीन द्वारा अब नयति में जांच कराई जा सकती है। नयति से पहले यह मशीन इस क्षेत्र में उपलब्ध नहीं थी और इसके द्वारा जांच कराने के लिए मरीजों को दिल्ली तक जाना पड़ता था।

नयति मेडिसिटी के यूरोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. पी.बी सिंह ने इस मशीन के बारे में बताते हुए कहा कि बढ़ती उम्र के साथ कई लोगों में पेशाब सम्बन्धी शिकायत शुरू हो जाती है जिसमें अक्सर लोगों का अपनी पेशाब पर कंट्रोल नहीं रहता जिसकी वजह से कई बार उनके कपड़े तक खराब हो जाते हैं। अक्सर पेशाब की थैली की नसों की कमजोरी के कारण बूंद बूंद करके पेशाब आता रहता है या पेशाब करते समय मरीज पूरी तरह से अपनी पेशाब की थैली को खाली नहीं कर पाते। यह समस्या होने के बाद पेशाब जो बाहर नहीं निकल पाता और थैली में ही भरा रह जाता है जिसका असर किडनी पर भी हो सकता है। इस बीमारी को न्यूरोजनिक ब्लैडर कहते हैं। यूरो डाईनिमिक्स से जांच करने के बाद बीमारी का सटीक पता चल जाता है जिसके बाद मरीज का इलाज करने में काफी सुविधा हो जाती है।

नयति मेडिसिटी के सीईओ डॉ आरके मनी ने कहा कि हमने तय किया था कि नयति में हम हर वो सुविधा उपलब्ध कराएंगे जिनके लिए यहां के लोगों मीलों लंबी यात्राएं करनी पड़ती थीं। नयति में इस मशीन के आने के बाद मुझे पूरा विश्वास है कि ब्रज तथा आसपास के लोगों को और बेहतर सुविधा मिल पायेगी।

Back