नयति मेडिसिटी में रेणुका डंग ने दिए स्वस्थ रहने के मन्त्र समाज का हर व्यक्ति हो स्वस्थ यही मेरा सपना : नीरा राडिया

मथुरा 28 अप्रैल। हम अपने शरीर की किसी भी अच्छी अथवा बुरी हालत के लिए खुद जिम्मेदार हैं। यदि हम प्रकृति से जुड़ें तथा मौसम के अनुसार फलों का सेवन करें तो यह हमारे शरीर के लिए बहुत उपयोगी है। धरती पर 70 प्रतिशत पानी है, यदि हम पानी वाली चीजें अधिक मात्रा में खाना शुरू करें तो हमको स्वस्थ होने से कोई नहीं रोक सकता। जबसे हम प्रकृति से दूर हुए हैं तबसे हमारी स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियां बढ़ी हैं। ये कहना था देश की जानीमानी न्यूट्रिशियनिस्ट रेणुका डंग का जो नयति मेडिसिटी में डाइट को लेकर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहीं थीं।
उन्होंने कहा कि सुबह उठकर रात को भिगोई हुई मैथी, अजवाइन, सौंफ आदि का कम से कम दो गिलास पानी पीना चाहिए। कैल्शियम प्राप्त करने के लिए लोग दूध पीते हैं लेकिन दूध का अधिक सेवन करने से खाने के बाद पेट मे गैस बनती है इसलिए कैल्शियम के लिए हमको खरबूजे आदि के बीजों का सेवन करना चाहिए। खाने के तुरन्त बाद पानी नहीं पीना चाहिए खाने से आधा घंटा पहले और एक घंटे बाद पानी पीना चाहिए। कोल्डड्रिंक तथा पैक्ड जूस आदि से भी बचना चाहिए। साफ और ताजे फलों का तत्काल निकला हुआ जूस ही फायदा करता है। हमको वो खाना चाहिए जो खाने के 20 मिनट के बाद शरीर से निकल जाए।
ज्ञात हो कि रेणुका डंग ने यूके के स्टोन ब्रिज एसोसिएट कॉलेज से शिक्षा प्राप्त करने के बाद देश के कई जाने पहचाने अस्पतालों में अपनी सेवाएं दी हैं। इसके साथ ही वे कई समाजसेवी संस्थाओं जैसे स्मृति एनजीओ, आकांक्षा एनजीओ तथा इनर व्हील क्लब आदि से भी जुड़ी रही हैं। इनके डाइट को लेकर कई लेख देश विदेश के कई समाचार पत्र तथा पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं। इसके साथ ही कई टीवी चैनलों पर भी लगातार इनके स्वास्थ्य सम्बन्धी शो प्रसारित होते रहते हैं। 90.4 एफएम तथा 90.8 एफएम पर भी लोगों ने इनके द्वारा बताई गई सलाह की काफी सराहना की गई। इनके द्वारा लिखी गयी दो किताबें भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित हो चुकी हैं। रेणुका डंग अब नयति मेडिसिटी के साथ जुड़ गई हैं जिसके बाद सप्ताह के हर सोमवार को आने वाले मरीजों को अपनी सेवाएं दे सकेंगी।
इस अवसर पर नयति मेडिसिटी की चेयरपर्सन नीरा राडिया ने कहा कि मेरा सपना है कि समाज का हर तबका स्वस्थ रहे और किसी को भी दवा आदि खाने की आवश्यकता ना पड़े। यदि हम लोग अपनी जीवनशैली में जरा सा बदलाव ले आते हैं तो हम बिल्कुल स्वस्थ रह सकते हैं। हमने इसी को ध्यान में रखते हुए अपने यहां पूर्व में भी वेलनेस विभाग की शुरुआत की थी जिसके अंतर्गत हम लोगों को योग द्वारा स्वस्थ रहने के लिए जागरूक करने का प्रयास कर रहे हैं। हमने शुरू से ही अपने साथ देश के जाने पहचाने विशेषज्ञों को जोड़ने का प्रयास किया है जिससे ब्रज तथा इसके आसपास के लोगों को विश्वस्तरीय सुविधा तथा इलाज दिला सकें। रेणुका के नयति में आने के बाद यहां के लोगों को इसका लाभ मिल पायेगा ऐसा मेरा विश्वास है। उन्होंने कहा कि लोगों में पानी, खानपान तथा अन्य वजहों से मोटापे तथा पेट सम्बन्धी परेशानियां पायी जाती हैं।
रेणुका डंग ने कहा कि मैं खुद आगरा की रहने वाली हूँ। नयति के आने से पहले यहां आसपास के मरीजों के लिए विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सम्बन्धी सुविधा नही थी। आपातकाल की स्थिति में यहां के लोगो को दिल्ली एनसीआर आदि जाना पड़ता था जिससे समय के अलावा पैसे की भी बर्बादी होती थी। नयति मेडिसिटी के आने के बाद इस क्षेत्र में विश्वस्तरीय चिकित्सा की कमी दूर हो गयी है, मैंने कभी नहीं सोचा था कि कभी मैं अपने शहर से बाहर जाकर भी लोगों को अपनी सलाह दूंगी लेकिन नयति मेडिसिटी की चेयरपर्सन नीरा राडिया जी के उद्देश्य तथा नयति के बारे में जब मुझे जानकारी हुई तो मैं बहुत प्रभावित हुई और नयति के साथ जुड़कर मुझे काफी खुशी हो रही है। नयति ने टियर 2 तथा टियर 3 के लोगों के बारे में उनके स्वास्थ्य के बारे में जो सोचा है उसे जानने के बाद भी मैं नयति से बहुत प्रभावित हुई अब मैं भी नयति के साथ जुड़कर टियर 2 तथा टियर 3 शहरों के लोगों के लिए भी कुछ कर पाउंगी

Back