PRESS RELEASES

November 10, 2017

नयति जैसे अस्पताल का मथुरा में होना एक सपने जैसा: युवराज सिंह

  • 10 November, 2017

सही समय पर सही इलाज से कैंसर हो सकता है सही: नीरा राडिया

मथुरा 10 नवम्बर। मां के द्वारा दिलाई गई हिम्मत और पिता के विश्वास के अलावा सही समय पर कराया गये इलाज द्वारा ही मैं कैंसर जैसी बीमारी पर विजय प्राप्त कर सका। यह कहना था जाने पहचाने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर युवराज सिंह का जो नयति मेडिसिटी में सैंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर कैंसर का उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि नयति जैसे अस्पताल का मथुरा में होना मेरे लिए एक सपने जैसा है और ब्रज तथा आसपास के क्षेत्र के लोगों के लिए वरदान। जब मुझे पता चला कि मुझे कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी ने जकड़ लिया है तो किसी भी आम इन्सान के जैसे ही मेरी भी कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि अब आगे क्या होगा? आंखों के आगे अंधेरा सा छा गया था, लेकिन जब पता चला कि कैंसर से मुक्ति पाई जा सकती है…. बस सही समय पर उचित इलाज कराने की जरूरत है। परिवार का साथ मिला और समाज का स्नेह…, और मैं जुट गया अपना इलाज कराने में और आज मैं बिल्कुल स्वस्थ हूं। Read More

November 1, 2017

नयति हॉस्पिटल में अत्याधुनिक कैथलैब का हुआ शुभारम्भ

  • 01 November, 2017

क्षेत्रवासियों को अब विश्वस्तरीय हृदय रोगों के इलाज के लिए ब्रज से बाहर जाने की जरूरत नहीं: नीरा राडिया
आगरा 1 नवम्बर। हृदय रोगों से सम्बंधित हर वह इलाज जो अभी तक देश के केवल गिने चुने शहरों के साथ नयति मथुरा में ही उपलब्ध था अब नयति हॉस्पिटल, आगरा में भी मिल सकेगा जिसके बाद आगरा तथा इसके आसपास के लोगों को दिल्ली तक की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। नयति में शुरू किए गये इस हार्ट कमांड सेन्टर की अत्याधुनिक सुविधाओं युक्त कैथलैब में अब हृदय रोगों से संबंधित हर वह सुविधा (हृदय रोगों की जाँच, बचाव तथा इलाज) अब ताजनगरी आगरा में ही मिल सकेगा। Read More

October 23, 2017

नयति में 80 वर्षीय बृद्ध के कैंसर ग्रस्त होंठ का हुआ सफल ऑपरेशन

  • 23 October, 2017

कलाई की त्वचा के माध्यम से बदला गया होंठ
मथुरा 23 अक्टूबर। मुँह के कैंसर से पिछले कई वर्षों से जूझ रहे 80 वर्षीय मेहर सिंह दवर का नयति मेडिसिटी में सफलता पूर्वक ऑपरेशन द्वारा इलाज करके नया जीवन प्रदान किया गया।
ज्ञात हो कि मेहर सिंह को लगभग 4 वर्ष पहले मुँह में छाले की शिकायत हुई थी, काफी दवा खाने के बाद भी उनकी छालों की समस्या खत्म नहीं हुई। धीरे धीरे उन छालों ने घाव का रूप धारण कर लिया और उनके मुँह के निचले होंठ को अपनी जद में ले लिया। काफी दवा कराने के बाद भी उनको कोई फायदा नहीं मिल पा रहा था जिसके चलते वे कुछ भी खाने पीने तक के लिए असमर्थ हो गए थे। Read More

October 12, 2017

नयति ने मनाया वर्ल्ड ऑर्थराइटिस दिवस

  • 12 October, 2017 , generic, ortho

उचित खानपान, व्यायाम तथा सन्तुलित वजन से हो सकता है ऑर्थराइटिस से बचाव – डॉ. विवेक फँसवाल

मथुरा 12 अक्टूबर। पिछले 18 महीने में हमने देखा है कि यहां ब्रज में हड्डियों से सम्बंधित रोगी काफी अधिक  आ रहे हैं जिनमें ऑर्थराइटिस के रोगी भी काफी मात्रा में हैं। नयति मेडिसिटी के हड्डी रोग विभाग में आज हड्डी रोगों से संबंधित हर प्रकार का विश्वस्तरीय उपचार उपलब्ध है। घुटना बदलना हो या कुल्हा अथवा किसी भी प्रकार का हड्डियों से संबंधित कोई उपचार, वह सब नयति में मौजूद है। इसके अलावा किसी भी प्रत्यारोपण से संबंधित ऑपरेशन के बाद होने वाली फिजियोथेरेपी भी नयति में उपलब्ध है। जिसके कारण मरीज अपने ऑपरेशन के दूसरे दिन से ही चलने की शुरुआत कर देते हैं। इसी प्रकार ऑर्थराइटिस की बीमारी जो उचित खानपान, व्यायाम की कमी के कारण हो सकती है। यह कहना था नयति मेडिसिटी के हड्डी रोग विभाग के प्रमुख डॉ. विवेक फँसवाल का जो वर्ल्ड ऑर्थराइटिस दिवस के अवसर पर पर नयति में आयोजित एक कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। Read More

October 11, 2017

समय रहते पता चलने पर कैंसर का सम्पूर्ण इलाज नयति में सम्भव: डॉ. (प्रो). शान्तनु चौधरी

  • 11 October, 2017 , generic, oncology

आगरा 11 अक्टूबर। कैंसर का नाम लोगों के जहन में आते ही एक अजीब सी सिरहन, डर अथवा भय जैसा व्याप्त हो जाता है, यदि कोई कैंसर की बीमारी से ग्रस्त हो जाता है तो उसके दिमाग में बस एक यही बात आती है कि अब जिन्दगी में कुछ नहीं रहा, उसकी आंखों के सामने अन्धकार छाने लगता है। एक निराशा और हताशा कैंसर पीड़ित को घेर लेती है। लेकिन अब कैंसर पीड़ितों को इस बीमारी से निराश अथवा हताश होने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि यदि समय रहते कैंसर का पता चल जाये तो कैंसर का इलाज संभव है। यह कहना था नयति हेल्थकेयर के कैंसर केन्द्र के चेयरमैन डॉ. (प्रो.) शान्तनु चौधरी का जो नयति मेडिसेंटर में विश्व स्तन कैंसर माह के अवसर पर पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। Read More

October 6, 2017

नयति में जानलेवा रूप की डाइबिटीज से पीड़ित 12 वर्षीय बच्ची का हुआ सफल इलाज

  • 06 October, 2017 , generic

डाइबिटीज के कारण एक बार में चार लोगों का खाना खा लेती थी मुस्कान

मथुरा 6 अक्टूबर। नयति मेडिसिटी में डाइबिटिक कीटो एसिडोसिस (जानलेवा रूप की डाइबिटीज) संक्रमण और किडनी फेलियर से ग्रस्त 12 वर्षीय बालिका मुस्कान की सफलतापूर्वक इलाज करके जान बचायी गयी।

मथुरा निवासी 12 वर्षीय मुस्कान पिछले काफी दिनों से पेटदर्द, चक्कर आना आदि अन्य कई प्रकार की परेशानियों से जूझ रही थी और तो और उसकी भूख काफी बढ़ गयी थी, जिसकी वजह से वह एक बार में 4 लोगों के जितना खाना खा जाती थी। उसके परिवार के द्वारा उसे शहर के कई डॉक्टरों को दिखाया गया लेकिन कोई उसकी बीमारी की तह तक नहीं पहुंच पा रहे थे। तब वे मुस्कान को लेकर नयति मेडिसिटी आये जहां आकर वे नवजात शिशु एवं बालरोग विभाग में मिले। नयति में उनकी सघनता से जांच करायी गयी तो पता चला कि मुस्कान एक गम्भीर प्रकार की डाइबिटिक कीटो एसिडोसिस (जानलेवा रूप की डाइबिटीज) से पीड़ित है जिसका किडनी, लीवर और शरीर के अन्य अंगो पर भी असर पड़ रहा था। Read More

September 13, 2017

कालिंदी क्लब की महिलाओं ने जाने कैंसर के बचाव के उपाय

  • 13 September, 2017 , oncology

नयति मेडिसिटी में आयोजित कार्यशाला में नयति के कैसंर विभाग के डायरेक्टर डॉ. अमित भार्गव ने दिए टिप्स

मथुरा 13 सितंबर 2017 महिलाओं के अंदर बढ़ रही कैंसर जैसी बीमारी के क्या कारण हैं ? कैंसर के क्या लक्षण होते हैं ? इससे बचाव कैसे संभव है कुछ इसी तरह के सवालों का जवाब नयति मेडिसिटी में आयोजित कार्यशाला में कालिंदी क्लब की सदस्याओं ने जाने। कार्यशाला में नयति मेडिसिटी के कैंसर विभाग के डायरेक्टर डॉ. अमित भार्गव ने महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, और बच्चेदानी के कैंसर के लक्षण, बचाव के साथ उसके उपचार में प्रयोग की जाने वाली आधुनिकतम चिकित्सा पद्वति के बारे में भी बताया। डॉ. भार्गव ने कहा कि परिवार की महिला को जागरूक करने से पूरा परिवार जागरूक हो जाता है इसलिए यह जरूरी है कि महिलाएं कैसर के प्रति जागरूक हों और अपने आसपास की महिलाओं को भी जागरूक करें। Read More

September 12, 2017

नयति में मात्र 1.25 लाख में होगी “बैरियाट्रिक सर्जरी”

  • 12 September, 2017 , gastro, generic

मोटापे से ग्रस्त लोगों के लिए वरदान है बैरियाट्रिक सर्जरी’

मथुरा, आगरा 12 सितम्बर। मोटापा इन्सान के ऊपर कुदरत का वो कहर है जो अकेला नहीं आता बल्कि साथ में लाता है डाइबिटीज, ब्लडप्रेशर, हाइपरटेंशन, थाइराइड, घुटनों की परेशानी एसिडिटी और भी पता नहीं कितनी बीमारियां अपने साथ लाता है। मोटापा आने के बाद रुकता नहीं बल्कि दिनोंदिन बढ़ता ही जाता है और जिसकी जिन्दगी में ये आया उसका जीना मुश्किल कर देता है। इससे बचने को इन्सान क्या क्या जतन नहीं करता? जिम जाना, डाइटिंग करना, टहलना और भी पता नहीं क्या क्या, लेकिन मोटापा तो आकर ऐसा घर बसाता है कि जाने कां नाम ही नहीं लेता और इससे ग्रस्त इन्सान इसे अपनी खराब किस्मत समझकर हीनभावना के साथ इसके साथ जीने को मजबूर हो जाता है। Read More

September 9, 2017

नयति ने मनाया वर्ल्ड सुसाइट प्रिवेंशन डे

  • 09 September, 2017 , generic, psychiatric

मथुरा 9 सितम्बर। जिन्दगी को जीने के लिए हम सभी को पता नहीं कितनी दुश्वारियों से गुजरना पड़ता है, सुबह जागने से लेकर रात को सोने तक के बीच का समय एक आपाधापी में ही बीतता है। हर व्यक्ति के जीवन में सुख दुःख क्रमबद्ध तरीके से आते जाते रहते हैं, कोई तो इनका सामना कर लेता है और कोई इनका सामना नहीं कर पाता और एक समय ऐसा आता है कि उसे आगे पीछे कुछ दिखाई नहीं देता और वो आत्महत्या तक कर लेता है। ये कहना था नयति मेडिसिटी के मनोचिकित्सा विभाग के प्रमुख डॉ. सागर लवानिया का जो हॉस्पिटल परिसर में वल्र्ड सुसाइट प्रिवेंशन डे पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। Read More

September 9, 2017

नयति के विशेषज्ञ चिकित्सकों ने कैथलैब से किया मस्तिष्क में फूलकर फटी नसों का इलाज

  • 09 September, 2017 , generic, neuro

नयति में होता है न्यूरो की अत्याधुनिक तकनीक एंडोवेस्कुलर सर्जरी से इलाज
आगरा 9 सितंबर 2017। अभी तक देश के चुनिंदा शहरों में होने वाली एंडोवेस्कुलर न्यूरोसर्जरी को नयति मेडिसिटी मथुरा में सफलतापूर्वक पूरा किया गया। आगरा निवासी 55 वर्षीय पूनम एक दिन अचानक चक्कर खाकर बेहोश हो गईं। परिवारीजन पूनम को तत्काल आगरा शहर के एक अस्पताल में ले गए जहॉ चिकित्सकों ने पूनम अग्रवाल को दिल्ली ले जाने की सलाह दी। Read More